भारत में बिटकॉइन दर(bitcoin rate in India)

भारत में बिटकॉइन दर(bitcoin rate in India),bitcoin का रेट हर समय बदलता रहता है जब में ये आर्टिकल लिख रहा हु उस समय बिटकॉइन का रेट  5,098,052.57 है ,इसकी करंट रेट देकने के लिए आप इस वेबसाइट का भी देख है https://www.buyucoin.com/ .

हम आज आप को बिटकॉइन की पूरी जानकारी देंगे जिससे आप को बिटकॉइन के बारे में पूरी जानकारी मिल सके ,

बिटकॉइन एक डिजिटल करेंसी है जो पूरी तरह से फ्री में काम करती है, यानी यह किसी बैंक या सरकार के नियंत्रण में नहीं है। एक मुद्रा जो पूरी तरह से आभासी है। आप इसे नकदी के ऑनलाइन संस्करण के रूप में भी सोच सकते हैं।

चूंकि बिटकॉइन विकेंद्रीकृत डिजिटल कैश है, इसलिए इसके सभी लेनदेन एक पीयर-टू-पीयर कंप्यूटर नेटवर्क का उपयोग करके किए जाते हैं, अर्थात यहां सभी खरीद की पुष्टि उपयोगकर्ताओं द्वारा की जाती है। वहीं, यहां किसी भी बैंक या सरकार का दखल बिल्कुल नहीं है।

आजकल इंटरनेट की मदद से पैसा कमाना संभव हो गया है। ऐसे कई तरीके हैं जिनसे हम घर बैठे इंटरनेट से पैसे कमा सकते हैं। उन तरीकों में से एक है बिटकॉइन, जिससे हम बहुत सारा पैसा कमा सकते हैं।

आप में से कुछ लोगों ने बिटकॉइन के बारे में सुना होगा और जो लोग बिटकॉइन के बारे में कुछ नहीं जानते हैं, आज उन्हें इस लेख के माध्यम से पता चल जाएगा। जी हां, आज मैं आपको बिटकॉइन क्या है इसके बारे में बताने जा रहा हूं।

बिटकॉइन एक विकेन्द्रीकृत मुद्रा है, जिसका अर्थ है कि यह किसी विशिष्ट देश या मुद्रा से बंधा नहीं है। यह ब्लॉकचेन तकनीक के शीर्ष पर बनी एक मुद्रा है, जिसका अर्थ है कि बिटकॉइन के साथ किए गए लेनदेन सार्वजनिक रूप से और कालानुक्रमिक रूप से ब्लॉकचेन पर संग्रहीत होते हैं। इसका मतलब है कि अब तक किए गए सभी लेनदेन को कोई भी देख सकता है।

बिटकॉइन क्या है?

बिटकॉइन को 2009 में सतोशी नाकामोटो नाम के एक व्यक्ति या समूह द्वारा पेश किया गया था। बिटकॉइन का मतलब नकदी का एक डिजिटल संस्करण बनाने का एक तरीका था, जहां एक व्यक्ति से दूसरे व्यक्ति को बिना किसी वित्तीय संस्थान या किसी अन्य बिचौलिए के माध्यम से भुगतान किया जा सकता है, जो इस प्रकार के भुगतान के लिए शुल्क ले सकता है और धीमा कर सकता है। प्रोसेसिंग समय।

बिटकॉइन का उपयोग कोई भी कर सकता है जैसे हम सभी इंटरनेट का उपयोग करते हैं और इसका कोई मालिक नहीं है, उसी तरह बिटकॉइन भी है।

बिटकॉइन का उपयोग क्यों किया जाता है?

हम बिटकॉइन का उपयोग ऑनलाइन भुगतान करने या किसी भी प्रकार के लेनदेन करने के लिए कर सकते हैं बिटकॉइन पीयर-टू-पीयर नेटवर्क-आधारित पर काम करता है जिसका अर्थ है कि लोग बिना किसी बैंक, क्रेडिट कार्ड या किसी भी कंपनी के एक दूसरे के साथ आसानी से लेनदेन कर सकते हैं।

बिटकॉइन को लेनदेन में उपयोग करने के लिए सबसे तेज और सबसे कुशल माना जाता है। आजकल बहुत से लोग bbitcoin जैसे online Developers, Entrepreneur, Non-Profit Organization आदि को अपना रहे हैं और इस वजह से Bitcoin का इस्तेमाल पूरी दुनिया में Global Payment के लिए किया जा रहा है।

जैसे हम अन्य मुद्राओं का उपयोग करके ऑनलाइन लेनदेन करते हैं, तब हमें बैंकों की भुगतान प्रक्रिया का पालन करना होता है, तभी हम भुगतान करने में सक्षम होते हैं और हमारे द्वारा किए गए प्रत्येक लेनदेन का खाता हमारे बैंक खाते में मौजूद होता है ताकि इसका पता लगाया जा सके। कहां और कितना पैसा खर्च किया गया है, लेकिन बिटकॉइन का मालिक कोई नहीं है, इसलिए इसके साथ किए गए लेनदेन को एक सार्वजनिक खाता बही (खाते) में दर्ज किया जाता है जिसे बिटकॉइन “ब्लॉकचैन” कहा जाता है।

वहां, बिटकॉइन के साथ किए गए सभी लेनदेन विवरण संग्रहीत किए जाते हैं और वही ब्लॉकचेन इस बात का प्रमाण है कि लेनदेन हुआ है या नहीं।

बिटकॉइन आज की दर(bitcoin rate in India)

बिटकॉइन का मूल्य आज के दिन में लगभग $50,456 है, जिसका अर्थ है कि एक बिटकॉइन का मूल्य 48,85,000 है। इसका मूल्य कम या ज्यादा होता रहता है क्योंकि इसे नियंत्रित करने का कोई अधिकार नहीं है, इसलिए इसका मूल्य इसकी मांग के अनुसार बदलता रहता है।

बिटकॉइन वॉलेट क्या है?

हम बिटकॉइन को केवल इलेक्ट्रॉनिक रूप से स्टोर कर सकते हैं और इसे रखने के लिए बिटकॉइन वॉलेट की जरूरत होती है। बिटकॉइन वॉलेट कई प्रकार के होते हैं जैसे कि डेस्कटॉप वॉलेट, मोबाइल वॉलेट, ऑनलाइन/वेब-आधारित वॉलेट, हार्डवेयर वॉलेट, इनमें से किसी एक वॉलेट का इस्तेमाल करके हमें उसमें अकाउंट बनाना होता है।

यह वॉलेट हमें एड्रेस के रूप में एक यूनिक आईडी देता है, जैसे अगर आपने कहीं से बिटकॉइन कमाया है और आपको उसे अपने अकाउंट में स्टोर करना है तो आपको वहां उस एड्रेस की जरूरत पड़ेगी और उसकी मदद से आप बिटकॉइन ट्रांसफर कर सकते हैं। आपके खाते में। जेब में रख सकते हैं।

इसके अलावा, यदि आप बिटकॉइन खरीदना या बेचना चाहते हैं, तो आपको एक बिटकॉइन वॉलेट की आवश्यकता होती है और उसके बाद, आपके द्वारा बेचे जाने वाले बिटकॉइन के बदले में आपको जो भी पैसा मिलता है, वह भी बिटकॉइन वॉलेट के माध्यम से आपके बैंक खाते में स्थानांतरित हो सकता है।

बिटकॉइन कैसे कमाए

हम तीन तरह से बिटकॉइन कमा सकते हैं। यहां हमने बिटकॉइन अकाउंट कैसे बनाएं इसकी पूरी जानकारी दी है।

1. पहला तरीका यह है कि अगर आपके पास पैसा है तो आप सीधे $999 देकर बिटकॉइन खरीद सकते हैं। ऐसा भी नहीं है कि अगर आप बिटकॉइन खरीदना चाहते हैं तो आपको पूरे 999 डॉलर का भुगतान करना होगा, अगर आप चाहें तो , आप बिटकॉइन “सतोशी” की सबसे छोटी इकाई भी खरीद सकते हैं।

जैसे हमारे भारत में 1 रुपये में 100 पैसे होते हैं, वैसे ही 1 बिटकॉइन में 100 मिलियन सतोशी होते हैं, इसलिए आप चाहें तो बिटकॉइन सतोशी की सबसे छोटी राशि खरीदकर धीरे-धीरे 1 या अधिक बिटकॉइन जमा कर सकते हैं। जब आपके पास बिटकॉइन होगा और इसकी कीमत बढ़ जाएगी, तो आप इसे बेचकर अधिक पैसा कमा सकते हैं।

2. दूसरा तरीका यह है कि अगर आप किसी को ऑनलाइन कोई सामान बेच रहे हैं और अगर उस खरीदार के पास बिटकॉइन मौजूद है।

तो उससे आप पैसे के बदले बिटकॉइन लेते हैं, ऐसे में आप उन्हें वो सामान भी बेच देंगे और आपको बिटकॉइन भी मिलेगा जो आपको आपका बिटकॉइन वॉलेट।

आप चाहें तो बाद में उस बिटकॉइन को किसी दूसरे व्यक्ति को ज्यादा कीमत पर बेचकर भी मुनाफा कमा सकते हैं।

3. तीसरा तरीका है बिटकॉइन माइनिंग। इसके लिए हमें हाई-स्पीड प्रोसेसर वाले कंप्यूटर की जरूरत होगी जिसका हार्डवेयर भी अच्छा होना चाहिए। हम बिटकॉइन का उपयोग केवल ऑनलाइन भुगतान के लिए करते हैं और जब कोई बिटकॉइन से भुगतान करता है, तो उस लेनदेन को सत्यापित किया जाता है।

जो लोग उन्हें सत्यापित करते हैं, हम उन्हें खनिक कहते हैं और उन खनिकों के पास उच्च प्रदर्शन वाले कंप्यूटर और जीपीयू होते हैं और वे इसके माध्यम से लेनदेन को सत्यापित करते हैं। वे सत्यापित करते हैं कि लेन-देन सही है या नहीं या इसमें किसी प्रकार का हेरफेर किया गया है या नहीं। इस वेरिफिकेशन के बदले उन्हें इनाम के तौर पर कुछ बिटकॉइन मिलते हैं और इस तरह नए बिटकॉइन बाजार में आ जाते हैं।

ऐसा कोई भी कर सकता है, इसके लिए हाई-स्पीड प्रोसेसर वाले कंप्यूटर की जरूरत होती है, जिसे खरीदना हर किसी के बजट में नहीं होता है।

जिस तरह हर देश में एक साल में करेंसी प्रिंट करने की एक लिमिट होती है कि आप साल में सिर्फ इतने नोट प्रिंट कर सकते हैं, उसी तरह बिटकॉइन के साथ भी कुछ सीमाएं हैं कि 21 मिलियन से अधिक बिटकॉइन बाजार में प्रवेश नहीं कर सकते हैं। यानी बिटकॉइन की लिमिट सिर्फ 21 मिलियन है, इससे ज्यादा बिटकॉइन कभी नहीं मिलेगा।

अभी की बात करें तो लगभग 13 मिलियन बिटकॉइन बाजार में आ चुके हैं और नए बिटकॉइन अब माइनिंग के जरिए आएंगे।

इसे भी पढ़े – के वाई सी की फुल फॉर्म (KYC full form)

बिटकॉइन के फायदे

1. यहां आपका लेनदेन शुल्क क्रेडिट कार्ड और डेबिट कार्ड से भुगतान करने से बहुत कम है।

2. आप दुनिया में कहीं भी और कभी भी बिना किसी परेशानी के बिटकॉइन भेज सकते हैं।

3. यहां बिटकॉइन का अकाउंट ब्लॉक नहीं होता है, जैसे कभी-कभी किसी कारण से बैंक हमारे क्रेडिट या डेबिट कार्ड को ब्लॉक कर देता है, तो वह समस्या यहां नहीं होती है।

4 मिलते हैं।

5. अगर बिटकॉइन के ट्रांजैक्शन प्रोसेस में कोई सरकार या अथॉरिटी आप पर नजर नहीं रखती है तो कई लोग ऐसे भी हैं जो इसका इस्तेमाल गलत काम करने के लिए भी करते हैं तो यह उनके लिए फायदेमंद होता है.

बिटकॉइन के नुकसान

1. यहां बिटकॉइन को नियंत्रित करने के लिए कोई अथॉरिटी, बैंक या सरकार नहीं है, इसलिए इसके कारण बिटकॉइन की कीमत में कई उतार-चढ़ाव आते हैं, तो यह थोड़ा जोखिम भरा हो जाता है।

2. अगर आपका अकाउंट कभी हैक हो जाता है तो आप अपने सारे बिटकॉइन खो देंगे और इसे वापस नहीं लाया जा सकता, इसमें कोई आपकी मदद नहीं कर पाएगा।

बिटकॉइन कैसे खरीदें?

आप बिटकॉइन को सोने की तरह ही खरीद सकते हैं, वो भी भारतीय मुद्रा में। तो आइए जानते हैं कि भारत में ऐसी वेबसाइटें हैं जहां से हम बड़ी आसानी से बिटकॉइन खरीद सकते हैं, वो भी अपनी मुद्रा में।

1. Wazirx

2. Unocoin

3. Zebpay

%d bloggers like this: